क्या आप सहजन के फायदे जानते हैं???....जाने हड्डियों और डायबिटीज के लिए किस तरह है फायदेमंद

सहजन को ड्रमस्टिक या मोरिंगा के नाम से भी जाना जाता है. यह एक प्रकार की फली है, जिसे सब्जी में इस्तेमाल किया जाता है. सहजन को स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. इसमें एंटी- बैक्टीरियल गुण पाया जाता है जो शरीर को कई तरह के संक्रमण से बचने में मदद कर सकते हैं.

क्या आप सहजन के फायदे जानते हैं???....जाने  हड्डियों और डायबिटीज के लिए किस तरह है फायदेमंद
Google

हमारे देश में तरह-2 की सब्जियां और फल पाए जाते है जिसकी वजह से भारत को फल और सब्जियों का घनी देश कहा जाता है. यहाँ पर विभिन्न प्रकार के फलों और सब्जियों का उत्पादन किया जाता है. पर आज हम एक ऐसी ही सब्जी की बात करेगें जो एक प्रकार की फली है, जिसका इस्तेमाल सब्जी बनाने में किया जाता है. उसका नाम सहजन है, इसे ड्रमस्टिक या मोरिंगा के नाम से भी जाना जाता है. सहजन का पेड़ बहुत ही तेजी से बढ़ता है और इसकी फलियों के साथ इसके पत्ते और फूल का भी इस्तेमाल खाने के लिए किया जाता है.  भारत सहजन का सबसे बड़ा उत्पादक है. इसमें एंटी- बैक्टीरियल गुण पाया जाता है जो शरीर को कई तरह के संक्रमण से बचने में मदद कर सकते हैं. सहजन को स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. इसमें मौजूद विटामिन सी इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करता है. इसके सेवन से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है. इसकी पत्तियों में प्रोटीन, विटामिन बी6, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक जैसे तत्व पाए जाते हैं. तो चलिए हम आपको सहजन से होने वाले फायदों के बारे में बताते हैं. 

Also Read: These 6 drinks are the most effective in diabetes start drinking today

सहजन से होने वाले फायदे-

डायबिटीज: 

सहजन की फलियों, छाल और पत्तियों में एंटी- डायबिटिक गुण पाया जाता है, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में फायदेमंद हो सकता है. इसलिए सहजन को डायबिटीज में काफी फायदेमंद माना जाता है.

 

हार्ट: 

सहजन की फली और पत्तियों से हार्ट को हेल्दी रखा जा सकता है. इसकी पत्तियों में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो शरीर में इंफ्लेमेशन की वजह से होने वाली परेशानियों से राहत दिला सकते है. जिसकी वजह से हार्ट को हेल्दी रखने में मदद मिल सकती है. 

हड्डियों: 

हड्डियों को मजबूत बनाना है तो सहजन का सेवन जरुर करें. क्योंकि इसे कैल्शियम, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस का अच्छा सोर्स माना जाता है. इसके साथ ही इसमें एंटी-ऑस्टियोपोरोटिक के गुण पाए जाते हैं, जो ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे से बचाने में मदद कर सकते हैं. 

लीवर: 

सहजन का सेवन करने से लीवर को हेल्दी रखा जा सकता है. इसकी पत्तियों में क्वारसेटिन नामक फ्लैवनॉल होते हैं, जो हेपाटोप्रोटेक्टिव की तरह काम करते हैं. यह हमारे शरीर के अभिंग अंगो में से एक है जिसे हेल्दी रखना बेहद जरुरी होता है. 

मोटापा: 

इसमें क्लोरोजेनिक एसिड और एंटी-ओबेसिटी गुण मौजूद होते हैं, जो बढ़े हुए वजन को कम करने में मदद कर सकते हैं. इसलिए मोटापा को कम करने के लिए सहजन का उपयोग कर सकते हैं. 

पेट: 

इसमें एंटी-अल्सर गुण मौजूद होते हैं, जिस कारण इसके सेवन से अल्सर के जोखिम से बचा जा सकता है. सहजन की फली और पत्तियों का सेवन करने से पेट से जुड़ी कई समस्याओं को कम किया जा सकता है. 

Also Read: Mangrail is beneficial for diabetes patients know these 5 great benefits



अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. ट्रेंडिंग इन टाउन इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.